दो कहानीकार, दो कहानियाँ (3): ख़लील जिब्रान और सआदत हसन मंटो…

ख़लील जिब्रान की कहानी: तीन चीटियाँ एक व्यक्ति धूप में गहरी नींद में सो रहा था.तीन चींटियाँ उसकी नाक पर आकर इकट्ठी हुईं.तीनों ने अपने-अपने

आगे पढ़ें..

दो कहानीकार, दो कहानियाँ (2): अमृता प्रीतम और मंटो

अमृता प्रीतम की कहानी- जंगली बूटी अगूरी, मेरे पड़ोसियों के पड़ोसियों के पड़ोसियों के घर, उनके बड़े ही पुराने नौकर की बिलकुल नई बीवी है।

आगे पढ़ें..

दो कहानीकार, दो कहानियाँ (1): प्रेमचंद और टैगोर

साहित्य दुनिया में हम अभी तक शा’इरी को लेकर ही ज़्यादा बातें कर रहे थे लेकिन हम अब कहानियों पर भी चर्चा शुरू करने जा

आगे पढ़ें..

1 14 15 16
error: Content is protected !!