साहित्य दुनिया

अरग़वान रब्बही साहित्य दुनिया

आज की कहानी: मर्याना, हैरत और कोक्स्टर (भाग-3)

(यह कहानी साहित्य दुनिया टीम के सदस्य/ सदस्यों द्वारा लिखी गयी है और इस कहानी के सर्वाधिकार साहित्य दुनिया के पास सुरक्षित हैं। बिना अनुमति के कहानी के किसी भी अंश, भाग या कहानी को अन्यत्र प्रकाशित करना अवांछनीय है. ऐसा करने पर साहित्य दुनिया दोषी के ख़िलाफ़ आवश्यक क़दम उठाने के लिए बाध्य है।) […]

Read More
अरग़वान रब्बही कहानियाँ साहित्य दुनिया की कलम से

आज की कहानी: मर्याना, हैरत और कोक्स्टर (भाग-1)

(यह कहानी साहित्य दुनिया टीम के सदस्य/ सदस्यों द्वारा लिखी गयी है और इस कहानी के सर्वाधिकार साहित्य दुनिया के पास सुरक्षित हैं। बिना अनुमति के कहानी के किसी भी अंश, भाग या कहानी को अन्यत्र प्रकाशित करना अवांछनीय है. ऐसा करने पर साहित्य दुनिया दोषी के ख़िलाफ़ आवश्यक क़दम उठाने के लिए बाध्य है।) […]

Read More
साहित्य दुनिया

अलफ़ाज़ की बातें (15): लखनऊ या लख़नऊ?

लखनऊ एक ऐसा शहर है जो पूरी दुनिया में अपनी ज़बान और तहज़ीब के लिए जाना जाता है. लखनऊ शहर को उर्दू के बहुत नज़दीक माना जाता है लेकिन ये भी सच है कि पिछले कुछ सालों में यहाँ एक नया शहर बस गया है. नए बसे लोग भी धीरे-धीरे पुराने शहर की तहज़ीब को […]

Read More
नटखट कहानियाँ नटखट दुनिया ननकू के क़िस्से

खोया-खोया रसगुल्ला

रसगुल्ला को ज़ोरों की नींद आ रही थी और ननकू माँ से सवाल कर रहा था कि “माँ..रसगुल्ला कहाँ सोएगा?” माँ का जवाब रसगुल्ला सुन पाता उससे पहले ही रसगुल्ला तो सो भी गया..ननकू की गोद में..रसगुल्ला को ठंडी लगने लगी थी उसने आँख खोली तो हर तरफ़ अँधेरा था। दूर में एक छोटा बल्ब […]

Read More
नटखट कहानियाँ नटखट दुनिया ननकू के क़िस्से

हमारा घर

पापा ने गाड़ी घर के बाहर रोकी कि ननकू झट से दरवाज़ा खोल के गेट के सामने पहुँच गया और झाँक-झाँक के अंदर देखने लगा। चीकू भी ननकू के पीछे-पीछे आ गया था, वो तो गेट की सलाख़ों के बीच में से निकलकर अंदर चला गया ये देखकर ननकू हँसने लगा। माँ ने उतर के […]

Read More
नटखट कहानियाँ नटखट दुनिया ननकू के क़िस्से

वापसी की तैयारी

ननकू की छुट्टियाँ ख़त्म होने को आयी हैं और सभी लोग अब वापिस जाने की तैयारी कर रहे हैं. इन तैयारियों में राखी बुआ सबकी मदद करा रही हैं लेकिन साथ ही उनका मन ये भी है कि कुछ दिन और ननकू और सब रुक जाते तो…वो माँ से सवाल करती हैं.. “कुछ दिन और […]

Read More
किताब दुनिया

आम जीवन की सहज झलक देती है “वातायन”

किताब दुनिया में आज हम जिस किताब की बात करने वाले हैं वो किताब है लघु कहानी संग्रह वातायन। राजुल अशोक की इस किताब में कुल 15 कहानियाँ हैं। इन कहानियों में जहाँ आम जीवन की झलक मिलती है वहीं नाटकीय मोड़ से सभी कहानियाँ कोसों दूर हैं। कहानियों की एक ख़ास बात ये भी […]

Read More
किताब दुनिया

ख़ूबसूरत तस्वीरों और जानकारियों से मन मोहती है “लद्दाख़”

कहते हैं अगर आपको ख़ुद को पहचानना हो तो यात्रा करनी चाहिए। अक्सर हम ख़ुद से मुलाक़ात कर पाते हैं जब हम यात्रा में होते हैं, आने वाली तरह-तरह की परिस्थितियों में हमारा व्यवहार किस तरह का होता है और हम किस तरह से उन परिस्थितियों को समझते हैं और उनके साथ संतुलन बनाते हैं, […]

Read More
किताब दुनिया

मन की भावनाओं के द्वार खोलता है रश्मि रविजा का कहानी संग्रह “बंद दरवाज़ों का शहर”

बंद दरवाज़ों का शहर रश्मि रविजा का कहानी संग्रह है। इस कहानी संग्रह में भावनाओं के अलग-अलग द्वार खुलते हैं, फिर वो चाहे प्रेम को ख़ुद से दूर करती तलाक़शुदा महिला हो या महानगर में दिनभर घर में अकेली बातों को तरसती स्त्री हो, एक बेरोज़गार युवा हो या छोटी बहन की ख़ुशियों को पूरा […]

Read More
नटखट कहानियाँ नटखट दुनिया ननकू के क़िस्से

मिशन चीकू

कल शाम को चीकू और पापा आए थे और सुबह हो चुकी है लेकिन अब तक चीकू ननकू से नाराज़ ही है। चीकू जब से आया है तब से वो माँ के आसपास रहता है या फिर अकेले किसी किनारे बैठ जाता है। ननकू ने चीकू को अपने पास बुलाने की कोशिश की तो उसने […]

Read More
error: Content is protected !!