शब्दकोष

शब्दकोश साहित्य दुनिया

:पढ़ने का तरीक़ा: शब्द (वज़्न) सभी अर्थ न’अश (12)= ताबूत, शव, अर्थी न’ईम (121)= आनन्द, सुलभता, शान्ति ना (2)= (नकारत्मक) नहीं, न नाआश्ना (222)= अजनबी, अपरिचित नाइत्तिफ़ाक़ी (22122)= असहमति, मतभेद नाइन्साफ़ी (2222)= अन्याय नाइब (22)= सहायक, प्रतिनिधि, उपअधिकारी नाओ (22)= नाव, पोत, जहाज नाओनोश (2221)= बहुत शराब पीना, दावत उड़ाते हुए नाउम्मीद (2221)= निराशा, आशाहीन […]

Read More
शब्दकोश साहित्य दुनिया

दाख़िल (22)= प्रेवश करना दाद (21)= न्याय, बदला, दुहाई, प्रशंसा दार (21)= फांसी का तख्ता, लकड़ी दार(उपसर्ग) (21)= के साथ, जुड़ा हुआ दार (21)= घर, देश दारा (22)= अधिकारी, राजा, अधिपति दारू (22)= शराब, दवाई, उपचार दास्तां (212)= कहानी, कथा, किस्सा दाग़ (21)= निशान, घाव का चिन्ह, कलंक, दोष, विपदा, हानि, शोक दाम (21)= जाल, […]

Read More
शब्दकोश साहित्य दुनिया

:पढ़ने का तरीक़ा: शब्द (वज़्न) सभी अर्थ ताब (21)= ताप, शक्ति, धीरज, क्रोध ताबिश (22)= ताप, वैभव, शोक, दु:ख तासीर (221)= प्रभाव, छाप ताज (21)= मुकुट तारीख़ (221)= तिथि, इतिहास वर्णक्रम से लिखा हुआ तारीक (221)= अन्धेरा, धुंधला ताज़ा (22)= नया, नरम, प्रसन्न, ताजा ताक (21)= दृष्टि, मान, लक्ष्य, दृष्य तबाह (121)= विनष्ट, बिगड़ा हुआ, […]

Read More
शब्दकोश साहित्य दुनिया

:पढ़ने का तरीक़ा: शब्द (वज़्न) सभी अर्थ डाका (22)= डकैती, लूट डगर (12)= रास्ता, पथ, सड़क डाबर (22)= झील, तालाब, पानी के लिये बर्तन डर (2)= भय

Read More
शब्दकोश साहित्य दुनिया

:पढ़ने का तरीक़ा: शब्द (वज़्न) सभी अर्थ ठिकाना (122)= घर, स्थान, लक्ष्य, सीमा ठोकर (22)= स्र्कावट, खुराघात, अटक के लुढ़कना ठंड (21)= शीत, शीतल ठहर (12)= रुकना

Read More
शब्दकोश साहित्य दुनिया

“ग” और “ग़”

:पढ़ने का तरीक़ा: शब्द (वज़्न) सभी अर्थ ग़ज़ीदा (122)= डंक लग हुआ, काट खाया हुआ गुज़र (12)= जाना, एक रास्ता, एक जीवन गुज़ारा (122)= जीविका, जीवन निर्वाह, रास्ता, घर गुज़ारिश (122)= अनुनय, विनय, प्रार्थना, वर्णन गुज़ीदा (122)= चुना हुआ, निर्वाचित गुनाह (12)= दोष, पाप, अपराध गुफ़्तगू (212)= बातचीत, उपदेश गुम (2)= खोया हुआ, बेसुध, अनुपस्थित, […]

Read More
शब्दकोश साहित्य दुनिया

“ख़”

:पढ़ने का तरीक़ा: शब्द (वज़्न) सभी अर्थ ख़ाक (21)= धूलि, भूमि, राख ख़ंजर(22)= छुरी ख़ज़ां(ख़िज़ां) (12)= पतझड़, वृद्धावस्था, क्षय ख़जालत (122)= लज्जा, लज्जाशालीनता ख़जालत(122)= प्रसन्न, शुभ, भाग्यवान ख़िज़ाना(ख़ज़ाना) (122)= धन संग्रह, कोष, राजकोष ख़त (2)= पत्र, चिन्ह, लिखित ख़तरा (22)= डर, भय, विपित्ति, जोखिम ख़त्म (21)= अन्त, पूरा होना, अन्त करना, समाप्ती ख़ता (12)= गलती, […]

Read More
शब्दकोश साहित्य दुनिया

“क” और “क़” (

:पढ़ने का तरीक़ा: शब्द (वज़्न) सभी अर्थ काग़ज़ (22) = पन्ना, पत्र, लेख्य पत्र कातिब (22)= लेखक, लिपिक किताब (121)= पुस्तक, लेख, सन्देश कदा (12)= स्थान (अधिकतर शब्दान्त में आता है) कन्दा (22)= गढ़ा हुआ, नक्काशीदार किनारा (122)= समुद्र तट, नदी का तट, हाशिया, सीमा कीना (22)= द्वेष, वैर, लाग काइल(क़ायल) (22)= स्वीकारना, मानना, पराजित […]

Read More
शब्दकोश साहित्य दुनिया

:पढ़ने का तरीक़ा: शब्द (वज़्न) सभी अर्थ ब = द्वारा, साथ, से, में, अन्दर, समीप, ऊपर, के लिए, के तरफ़ (उपसर्ग में प्रयोग होता है) बा= के साथ, के द्वारा, का अधिकारी बि=द्वारा, साथ, से, में, अन्दर, समीप , ऊपर, के लिए, के तरफ़ (उपसर्ग में प्रयोग होता है) बे(2) =(उपसर्ग) बिना, न होना बे […]

Read More
शब्दकोश साहित्य दुनिया

“ए” और “ऐ”

:पढ़ने का तरीक़ा: शब्द (वज़्न) सभी अर्थ एहतियाज (2121)= आवश्यकता एहतियात (2121)= सावधानी, ध्यान रखना एहसास (221)= भावना, मनोभाव एहसान (221)= उपकार, कृपा, अनुग्रह ऐश (21)= आनन्द, विलास, सुख, भोग ऐहतमाम (2121)= व्यवस्था

Read More
error: Content is protected !!