बाल साहित्य

नटखट कहानियाँ नटखट दुनिया ननकू के क़िस्से

कविता बाल दिवस की

रसगुल्ला और चीकू घर के बाहर के गार्डन में बैठे हैं और ननकू बैठा है बरामदे में। ननकू अपनी कॉपी में कुछ लिख रहा है और एक के बाद एक पेज में कुछ लिखकर काटता जा रहा है। रसगुल्ला और चीकू आश्चर्य से उसे देखे जा रहे हैं, रसगुल्ला से रहा नहीं गया और वो […]

Read More
नटखट कहानियाँ नटखट दुनिया ननकू के क़िस्से

नाराज़ रसगुल्ला

इतने दिनों से ननकू कुछ इस तरह पढ़ाई- लिखाई और स्कूल में व्यस्त हो गया कि बस शाम को खेलने के बाद ही उसे ऐसी नींद आती कि वो कुछ भी नहीं कर पाता। चीकू को तो पहले से पता था कि स्कूल के समय ननकू बस इतना ही समय निकाल पाता है लेकिन रसगुल्ला..रसगुल्ला […]

Read More
नटखट कहानियाँ नटखट दुनिया ननकू के क़िस्से

आज़ादी

सुबह से ही घर में हलचल मची हुई है..ननकू आँगन में खड़ा होकर ज़ोर-ज़ोर से कविता सुना रहा है चीकू और रसगुल्ला उसको ध्यान से सुन रहे हैं। “देश हमारा सबसे प्यारा ऊँचा लहरे तिरंगा प्यारा देश के वीरों को सलाम है देश के वीरों को प्रणाम है आपस में मिल जुलकर रहना वीरों का […]

Read More
नटखट कहानियाँ नटखट दुनिया ननकू के क़िस्से

रसगुल्ला की चिंता

माँ सोफ़े पर बैठकर कोई पुरानी किताब पढ़ रहीं थीं, रसगुल्ला उनके पैरों के पास बैठा था। वो बार-बार माँ की तरफ़ उम्मीद से देखता, माँ उसे एक नज़र मुस्कुरा कर देखतीं और उसे थोड़ा सा सहला देतीं… रसगुल्ला माँ का प्यार पाकर तसल्ली पाता लेकिन वो इस बात को लेकर हैरान था कि चीकू […]

Read More
साहित्य दुनिया

ननकू का स्कूल

जैसे ही गाड़ी स्कूल के गेट के पास पहुँची, ननकू गाड़ी में बैठा अपना बैग सम्भालने लगा। उसे देखकर रसगुल्ला भी पूरी तरह तैयार हो गया, आख़िर उसे भी तो उतरना था साथ में लेकिन ये क्या जैसे ही पापा ने गाड़ी रोकी कि ननकू उतरने लगा लेकिन रसगुल्ला जब उतरने के लिए मचला तो […]

Read More
नटखट कहानियाँ नटखट दुनिया ननकू के क़िस्से

स्कूल का पहला दिन

सुबह अच्छे से हो चुकी है और ननकू छुट्टियों के बाद पहली बार स्कूल जा रहा है। ननकू के लिए माँ नाश्ते बना रही हैं तो चीकू भी बार-बार माँ से अपने लिए नाश्ता माँग रहा है। ननकू नहा कर रेडी हो रहा है, उसकी मदद पापा कर रहे हैं, रसगुल्ला ननकू के आस-पास घूम […]

Read More
नटखट कहानियाँ नटखट दुनिया ननकू के क़िस्से

रसगुल्ला जाएगा स्कूल?

“रसगुल्ला..पता है आज न पापा मेरे लिए नया जूता लेकर आने वाले हैं”- ननकू ख़ुश होते हुए बोला रसगुल्ला भी ख़ुश होकर ननकू के आसपास घुमने लगा। ननकू ने उसको प्यार किया और कुछ सोचने लगा, माँ ने ध्यान से देखा “क्या हुआ भई..किस सोच में डूब गए?” “माँ, रसगुल्ला तो अभी छोटा है न…उसको […]

Read More
नटखट कहानियाँ नटखट दुनिया ननकू के क़िस्से

ननकू का बेस्ट फ़्रेंड

जैसे ही ननकू ने कहा कि उसे उसका बेस्ट फ़्रेंड मिल गया। तब से माँ, दादी, चीकू और रसगुल्ला सोच रहे हैं कि ननकू का बेस्ट फ़्रेंड आख़िर कौन है। ननकू तो आराम से चीकू और रसगुल्ला के साथ खेलने लग गया। माँ और दादी को इंतज़ार था कि कब बबलू आए और ननकू पूरी […]

Read More
नटखट कहानियाँ नटखट दुनिया ननकू के क़िस्से

दोस्ती की पहचान

ननकू सोच में डूबा हुआ था कि रसगुल्ला उसके पास आया..ननकू तो सोच ही रहा था कि रसगुल्ला ने उसके पैर के पास कुछ रखा ननकू ने देख रसगुल्ला उसके लिए पानी की बोतल लाया था। ननकू ने ले लिया तो रसगुल्ला पास खड़े होकर उसके पैर पर अपने दोनों अगले पैर रखकर उसे चाटने […]

Read More
नटखट कहानियाँ नटखट दुनिया ननकू के क़िस्से

दोस्ती का सवाल

ननकू बरामदे में बैठा चीकू के साथ खेल रहा था कि तभी दरवाज़े से रमा चाची आती हुई बोलीं “कैसा है ननकू..?..माँ कहाँ है..?” “मैं अच्छा हूँ और माँ अंदर हैं..चाची बबलू नानी के घर से आ गया?” “हाँ भई, मैं आ गयी हूँ तो बबलू कहाँ रुकेगा नानी के घर..आ रहा है तुझसे मिलने”- […]

Read More
error: Content is protected !!