मंगल (22) कल्याणकारी, शुभ। कल्याण, भलाई, हित, सौर मंडल का एक ग्रह ; मंगलवार।
मंगल-सूत्र(2222) सधवा स्त्रियों द्वारा गले मे पहना जाने वाला पवित्र सूत्र।
मंगलाचरण(21212) शुभकार्य के आरंभ में पढ़ा जाने वाल मांगलिक मंत्र, श्लोक या पद्यमय रचना आदि ; ग्रंथ के आरंभ में मंगल की कामना तथा उसकी निर्विध्न समाप्ति के लिए लिखा जाने वाला पद्य।

मंच(21) सभा-समितियों में ऊँचा बना हुआ मंउल जिस पर बैठकर सर्व-साधारण के सामने किसी प्रकार कार्य किया जाए, रंगमंच (स्टेज, डाइस) कुछ विशिष्ट प्रकार के कार्य कलापों के लिए उपयुक्त क्षेत्र (फोरम)।

मंज़िल(22) गन्तव्य (डेस्टिनेशन)। पड़ाव, मुकाम।
मंत्र (22) देवताओं को प्रसन्न कराने अथवा सिद्धि आदि प्राप्त कराने वाला शब्द-समूह ; कार्य-सिद्धि का ढ़ंग, गुर या नीति।
मंत्री (22) मंत्रणा अथवा परामर्श देने वाला ; आमात्य ; सचिव।
मंदा(22) जिसकी मांग कम हो (सौदा), जिसमें तेजी न हो (व्यापार या बाजार)।
मंदिर(22) देवालय किसी शुभ कार्य के लिए बना हुआ भवन या मकान।
मक्कार(221) कपटी, छली।
मख़मल(22) एक तरह का चिकना तथा रोएंदार कपड़ा।
मगर(12) घड़ियाल। लेकनि, परन्तु पर।
मग्न (21) [मगन (12)] किसी काम या बात में तन्मय, लीन।
मच्छरदानी (2222) जालीदार कपड़े का बना हुआ चौकोर आवरण जिसका उपयोग मच्छरों से बचाव के लिए किया जाता है; मसहरी।
मज़दूर(221) शारीरिक श्रम द्वारा जीविका कमाने वाला व्यक्ति।
मज़दूरी (222) मज़दूर का काम ; भाड़े या वेतन के रूप मे मज़दूर को दिया जाने वाला धन।
मज़बूत(221) दृढ़, पक्का, टिकाऊ ; (व्यक्ति) हृष्ट-पुष्ट, तगड़ा, शक्तिशाली।
मज़ाक़(121) परिहास, हंसी, दिल्लगी।
मझधार(221) नदी आदि के बीच की धारा ; किसी काम या बात के मध्य की स्थिति।
मठ(2) साधु-सन्यासियों के रहने का स्थान या मकान।
मतदान(221) चुनाव में अथवा किसी प्रस्ताव आदि के पक्ष-विपक्ष में अपना मत देने की क्रिया।
मताधिकार(12121) किसी चुनाव या विषय में मत देने का अधिकार।
मथना(22) दूध, दही को मथानी आदि से बिलोना।
मथानी(122) दही मथने का काठ का बना हुआ एक उपकरण।
मद(2) नशा, मस्ती ; निंदनीय अहंकार या गर्व ; मतवाले हाथी का कनपटी से बहने वाला गंधयुक्त द्रव्य।
मदारी(122) बाज़ीगर; बदर-भालू आदि नचाकर जीविका चलाने वाला।
मदिरा(22) शराब, मद्य।
मद्यप(22) जो मदिरापान करता हो, शराबी।
मद्यु(21) शहद ; शराब ; बसंत ऋतु।
मधुर(12) जिसका स्वाद मधु के समान हो, मीठा।
मध्यस्थ(221) आपस में मेल या समझौता कराने वाला, बिचौलिया।
मन(2) मनुष्य के अंत:करण का वह अंश जिससे वह अनुभव, इच्छा, बोध, विचार और संकल्प-विकल्प करता है ; वज़न में चालीस सेर।
मनचाहा(222) जिसे मन चाहता हो, इच्छानुसार।
मनोरंजन(1222) दिल बहलाव, मन की प्रसन्नता।
मनोरथ(122) अभिलाषा, वांछा, इच्छा।
मनोरम(122) जिसमें मन रमने लगे, सुंदर या आकर्षक।
ममता(22) अपनत्व का भाव, ममत्व ; मन में होने वाला मोह या लोभ का भाव।
मरना(22) मृत्यु को प्राप्त होना, प्राणांत होना ; खेलों में खिलाड़ियों का हार जाना।
मरहम (मलहम) (22) चमड़ी, घाव आदि पर उपचार के लिए लगाया जाने वाला औषधियों का गाढ़ा और चिकना लेप।
मरोड़ना(1212) किसी चीज में घुमाव, बल आदि डालने के उद्देश्य से उसे कुछ जोर से घुमाना, ऐंठना।
मर्म(21) किसी बात के अन्दर छिपा हुआ तत्व, भेद, रहस्य।
मर्यादा(222) सीमा, हद ; लोक में प्रचलित व्यवहार और उसके नियम आदि, लोकाचार।
मलना(22) किसी पदार्थ को कहीं लगाने के उद्देश्य से रगड़ना या घिसना ; लेप करना।
मलबा(22) कूड़ा-करकट; टूटी या गिराई हुई इमारत का ईंट-पत्थर, चूना आदि।
मलिन(12) मैला-कुचैला, गंदा ; उदास, म्लान।
मल्लाह(221) नदी में नाव खेकर अपनी जीविका अर्जित करने वाला व्यक्ति, केवट, मांझी।
महंगा(22) जिसके दाम साधारण या उचित से अधिक हों।
महंगाई(2222) साधारण या उचित से अधिक मूल्य पर वस्तुओं का बिकना।
महत्ता(122) बड़प्पन, महिमा, महत्व।
महत्त्व(122) महत्ता, बड़प्पन।
महत्त्वाकांक्षा(12222) बड़ा बनने की आकांक्षा, उच्चाकांक्षा।
महल(12) भवन, प्रासाद।
महान्(121) बहुत बड़ा, विशाल ; उच्च कोटि का।
महापुरुष(12121) महिमाशाली पुरुष, श्रेष्ठ जन।
महाविद्यालय(12122) उच्चशिक्षा देने वाला विद्यालय
महिला(22) स्त्री, औरत।
मांग(21) मांगने की क्रिया या भाव, याचना; किसी निश्चित मूल्य पर किसी चीज की खरीद या चाही जाने वाली मात्रा ; सिर के बालों को विभक्त करके बनाई जाने वाली रेखा, सीमान्त।

मांगना(212) किसी से यह कहना कि आप अमुक वस्तु या धन दें, याचना करना।
मांजना(212) कोई चीज अच्छी तरह से साफ करने के लिए किसी दूसरी चीज से उसे अच्छी तरह मलना या रगड़ना ; किसी काम या चीज का अभ्यास करना।

मांस(21) मनुष्यों तथा जीव-जंतुओं के शरीर का हड्डी, नस, चमड़ी रक्त आदि से भिन्न अंश जो रक्त वर्ण का तथा लचीला होता है, अमिष, गोश्त।

माड़ना(212) गूंधना, सानना ; अन्न की बालों में से दाने झाड़ना।
मातृभाषा(2222) अपने जन्म स्थान या घर में बोली जाने वाली भाषा।
मातृभूमि(2221) जन्मभूमि, स्वदेश।
मादक(22) नशा उत्पन्न करने वाला, नशीला।
माधुर्य(221) मधुरता, मिठास ; काव्य का एक गुण।
माध्यम(221) साधन, जरिया।
मानक(22) विशिष्ट वस्तुओं के आकार-प्रकार, महत्त्व आदि जांचने का कोई अधिकारिक आदर्श, मानदंड या रूप (स्टैन्डर्ड)।
मानकीकरण(21212) एक ही बर्ग की बहुत सी वस्तुओ के गुण, महत्त्व आदि का एक मानक रूप स्थिर करने की क्रिया या भाव (स्टैण्डडरिजेशन)।

मानना(212) स्वीकार करना, कबूल करना ; (किसी के प्रति) श्रद्धा रखना, गुण योग्यता आदि का कायल होना।
मानव(22) मनुष्य, आदमी।
मानवता(222) मानव होने की अवस्था या भाव, मनुष्य जाति ; मनुष्य के आदर्श तथा स्वाभाविक गुणों, भावनाओं आदि का प्रतीक या समूह।
मानसिक(212) मन-संबधी।
मान्य(22) मानने योग्य ; आदरणीय, सम्मान का अधिकारी।
माप(21) मापने की या नापने की क्रिया या भाव ; मापने पर ज्ञात होने वाला नाप, परिमाण, मात्रा या मान।
मापना(212) वस्तु का विस्तार, घनत्व या वजन मालूम करना।
माफ़(21) जिसे क्षमा किया गया हो या माफी दी गई हो।
मायका (मैका) (212) विवाहित स्त्री की दृष्टि से उसके माता-पिता का घर और परिवार, नैहर, पीहर।
मारना (212) जान लेना, हत्या करना ; पीटना, प्रहार करना, चोट पहुँचाना ; मानसिक या शारीरिक आवेग दबाना या रोकना।
मार्ग (21) रास्ता, पथ, राह ; माध्यम, साधन।
मार्मिक (212) मर्म स्थान पर प्रभाव डालने अथवा उसे आंदोलित करने वाला मर्मस्पर्शी।
माल (21) प्रत्येक ऐसी मूल्यवान वस्तु जिसका कुछ उपयोग होता है ; धन-संपत्ति, रुपया-पैसा, दौलत।
मालूम(22) जाना हुआ, ज्ञान, विदित ।

मिज़ाज (121) (مزاج) -मिज़ाज का अर्थ होता है स्वभाव. इस लफ़्ज़ का अक्सर लोग ग़लत उच्चारण करते हैं. इसे कुछ लोग मिजाज बोलते हैं तो कुछ ऐसे हैं जो मिजाज़ बोलते हैं..दोनों ही के बोलने वालों की तादाद बहुत है लेकिन दोनों ही ग़लत हैं. इसका सही उच्चारण मिज़ाज (Mizaaj) है.

मिटाना (122) दाग़, निशान आदि दूर करना। नष्ट करना, बरबाद करना।
मिट्टी (22) धरती की ऊपरी सतह का वह भुरभुरा मुलायम तत्त्व जिसमें पेड़ पौधे उगते हैं।
मिठाई (मीठा) (22) कुछ विशिष्ट प्रकार की बनी हुई खाने की मीठी चीजें।
मितभाषी (222) अपेक्षाकृत कम तथा आवश्यकतानुसार बोलने वाला।
मित्र (21) सखा, सुह्द, दोस्त।
मिथ्या(22) असत्य झूठा ; कृत्रिम, बनावटी।
मिलनसार (1221) जिसकी प्रवृति सबसे मिल-जुल कर रहने की हो।
मिलान(121) तुलनात्मक दृष्टि से अथवा ठीक होने की जाँच करने के लिए दो या अधिक चीजों या बातों का आपस में साथ रखकर मिलाया और देखा जाना ; गुण, दोष, विभिन्नता या समानता जाने के लिए दो चीजों या बातों के संबंध में किया जाने वाला विवेचन, तुलना।

मिलाना (122) मिश्रित करना, एक करना, मिलावट करना; जोड़ना, सटाना ; भेंट कराना, मेल-मिलाप कराना; तुलना करना, जाँच करना। किसी को अपने पक्ष में लाना।

मिलावट(122) किसी बढ़िया वस्तु में घटिया वस्तु का मेल।
मिश्रण(22) दो या अधिक चीजों को एक में मिलाना ; उक्त प्राकर से मिलाने से तैयार होने वाला पदार्थ या रूप ; मिलावट।
मीठा(22) जिसमें मिठास हो, मधुर रस वाला ; धीमा, मंदा।
मीनाकारी(2222) सोने-चांदी पर होने वाला मीने का रंगीन काम।
मुहब्बत (122) प्रेम, प्यार (कई वेबसाइट्स में ‘मुहब्बत’ को ‘मोहब्बत’ लिखा जा रहा है, लेकिन सही शब्द ‘मुहब्बत’ ही है)
मुहम्मद(122) इस्लाम धर्म के आख़िरी पैग़म्बर
मुंडेर(121) छत के चारो ओर मेंड जैसी दीवार।
मुक़दमा(122) वह विवादास्पद विषय जो न्यायालय के सामने विचार और निर्णय के लिए प्रस्तुत किया जाए।
मुकुट(12) एक प्रसिद्ध शिरोभूषण जिसे राजा लोग पहनते हैं और जो प्राय: देवी-देवताओं की मूर्तियों के सिर पर पहनाया जाता है।
मुक्त(21) जो किसी प्रकार के बंधन से छूट गया हो ; मोक्ष-प्राप्त, भव-बंधन से मुक्त ; छूटा हुआ, फैंका हुआ।
मुक्ति(21) किसी प्रकार के बंधन आदि से छुटकारा; धार्मिक क्षेत्र में वह स्थिति जिसमें जीव जन्म-मरण के बंधन से छूट जाता है, मोक्ष।
मुख(2) मुंह ; किसी पदार्थ का अगला या ऊपरी खुला भाग।
मुखपृष्ठ(221) किसी ग्रंथ या पुस्तक का सबसे ऊपर वाला वह पृष्ठ जिसमें उस पुस्तक तथा उसके लेखक का नाम छपा होता है।
मुख्य(21) प्रधान, खास ; महत्व पूर्ण या सारभूत।
मुख्यालय(222) किसी संस्था का केंद्रीय तथा प्रधान स्थान, प्रधान कार्यालय।
मुग्ध(21) मोहित, मूढ़।
मुट्ठी(22) हथेली की वह स्थिति जिसमें उंगलियां अन्दर की ओर मोड़कर बंद कर ली जाती है ; उतनी वस्तु जितनी मुट्ठी में आ सके ; मुट्ठी की चौड़ाई का माप।

मुद्रण(22) छापने की क्रिया या भाव ; मुद्रा से अंकित करना, मोहर लगाना।
मुद्रणालय(2222) जहाँ छापने का काम होता है, छापा खाना।
मुद्रा(22) चिह्न, नाम आदि अंकित करने की मुहर, सील ; ऐसी अंगूठी जिस पर किसी का नाम या कोई वैयक्तिक चिह्न अंकित हो ; क्रय-विक्रय का आधिकारिक माध्यम, सिक्का ; आंख मुंह हाथ आदि की ऐसी क्रिया जिससे मन की कोई विशिष्ट प्रवृति या भाव प्रकट हो।

मुनाफ़ा(122) क्रय-विक्रय में आर्थिक दृष्टि से होने वाला लाभ
मुरझाना(222) फूल-पत्तों आदि का सूखने लगना, कुम्हलाना ; उदास या सुस्त होना, कांति श्री आदि से रहित होना।
मुर्दनी(212) चेहरे से प्रकट होने वाले मृत्यु चिह्न ; शव के साथ अंत्येष्टि-क्रिया के लिए जाना।
मुश्किल(22) कठिन, दुष्कर, दुस्साध्य। कठिनाई, परेशानी।
मुस्कान(221) धीरे से हंसना।
मुहावरा(1212) वह शब्द या वाक्यांश जो अपने अभिधार्थ से भिन्न किसी और अर्थ में रूढ़ हो गया हो। अभ्यास।
मूहूर्त्त(222) काल का एक मान जो दिन रात के तीसवें भाग के बराबर होता है ; ज्योतिष के अनुसार शुभाशुभ समय ; श्री गणेश, आरंभ। –
मूक(21) गूंगा।
मूलभूत(2121) आधार रूपी, बुनियादी।
मूल्यांकन(2122) मूल्य निर्धारित या निश्चित करने की क्रिया।
मृत्यु(21) मरण, मौत।
मेहंदी(212) एक प्रकार की झाड़ी जिसकी पत्तियाँ हाथ-पैर रंगने के काम आती हैं।
मेखला(212) करधनी, कमरबंद, पेटी।
मेधावी(222) असाधारण बुद्धिवाला, बुद्धिमान।
मेरा(22) [मिरा (12)] ‘मैं’ का संबंध कारक।
मेरु-दंड(21 21) मनुष्यों और बहुत से जीवों में पीठ के बीचों-बीच गरदन से लेकर कमर तक जाने वाली एवं माला की तरह गुंथी हुई हड्डी।
मैं (2) सर्वनाम उत्तम-पुरुष में कर्त्ता का रूप, स्वयं, खुद।
मैदान(221) विस्तृत क्षेत्र का भूखंड, दूर तक फैली हुई सपाट जमीन ; पर्वतीय क्षेत्र में भिन्न समतल भू भाग ; खेल आदि का स्थान ; युद्ध-क्षेत्र, रण-भूमि।

मैल (21) शरीर, कपड़े आदि से चिपका हुआ मल, गर्द, धूल आदि ; किसी के प्रति मन में संचित दुर्भाव।
मैलखोरा(2122) धूल, गर्द आदि पड़ने पर भी जो मैला न दिखाई दे, जो मैल को छिपा सके।
मैला(22) जिस पर मैल जमी हो, गर्द, धूल आदि पड़ी हो, गंदा, अस्वच्छ। विष्ठा।
मोटा(22) जिसकी देह में मांस-मेद अधिक हो, स्थूलकाय ; जो पतला या बारीक न हो (कपड़ा आदि)।
मोती(22) एक बहूमूल्य रत्न जो सीपी में से निकलता है, मुक्ता।
मोदक(22) लड्डू। आनंद देने वाला।
मोल(21) क़ीमत, मूल्य, दाम।
मोह(21) स्नेह, लगाव।
मोहक(22) मोह उत्पन्न करने वाला ; मन को आकृष्ट करने वाला, लुभावना।
मौत(21) मरण, मृत्यु।
मौन(21) न बोलने की क्रिया या भाव, चुप रहना, चुप्पी। जो न बोले, चुप।
मौलिक(22) मूल-संबंधी, मूलगत ; जो किसी की छाया, उलथा, अनुकृति आदि न हो।
मौसम(22) गरमी, सरदी, आदि के विचार से समय का विभाग, ऋतु।
मौसम-विज्ञान(22 121) मौसम की जानकारी से संबंध रखने वाला विज्ञान।
म्यान(21) तलवार, कटार आदि रखने का कोष या गिलाफ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!