“क” और “क़” (

:पढ़ने का तरीक़ा: शब्द (वज़्न) सभी अर्थ

काग़ज़ (22) = पन्ना, पत्र, लेख्य पत्र
कातिब (22)= लेखक, लिपिक
किताब (121)= पुस्तक, लेख, सन्देश
कदा (12)= स्थान (अधिकतर शब्दान्त में आता है)
कन्दा (22)= गढ़ा हुआ, नक्काशीदार
किनारा (122)= समुद्र तट, नदी का तट, हाशिया, सीमा
कीना (22)= द्वेष, वैर, लाग
काइल(क़ायल) (22)= स्वीकारना, मानना, पराजित
क़ाईदा(क़ायदा) (212)= रीति, नियम, आदत, अनुशासन, आचरण
क़ज़ा (12)= भाग्य, अधिकारस्क्षेत्र, ईश्वरीयदंड
क़ाज़ी (22)= न्यायक
क़त्ल (21)= हत्या, वध
क़ातिल (22)= हत्यारा, वधिक, गुप्तघातक
क़द (2)= आकार, ऊंचाई, लम्बाई
क़द्र (21)= मान, मूल्य, प्रतिष्ठा, आदर
क़दम (12)= चाल, गति, पदचाप
क़ुदरत (22)= शक्ति, सृष्टि, प्रकृति, जगत
क़ैद (21)=बन्दी होना, स्र्कावट, नियंत्रण
क़ानून (221)= नियम, विधान, सिद्धान्त, व्यवस्था
क़फ़स (12)= पिंजरा, शरीर,जाली
क़ाफ़िया (212)= तुक, तुकबन्दी, छन्द, ताल
क़ब्ज़ा (22)= पकड़, शक्ति, अधिकार, तलवार का मुठ्ठा
क़ब्र (21)= समाधि
क़ाबिल (22)= समर्थ, चतुर, योग्य, गुणवान
क़ाबू (22)= शक्ति, अधिकार, वश, पकड़
क़ुबूल (121)= स्वीकार करना, स्वीकृति
क़मर (12)=चन्द्रमा
क़ीमत (22)= मूल्य, उपयोगिता, दाम, लागत
क़ौम (21) = राष्ट्र, जनता
क़यामत (122) =विनाश, मृतोत्थान, उथल-पुथल
क़ायदा(क़ाईदा) (212)= रीति, नियम, आदत, अनुशासन, आचरण
क़ायम (22)= स्थापित, ठहरा हुआ, दृढ़, टिकाऊ
क़ायल(काइल) (22)= स्वीकारना, मानना, पराजित
क़र्ज़ (21) ऋण
क़रार (121)= निवास, स्थिरता, विश्राम, धीरज, सन्तुष्टि
क़रीब (121)= पास, निकट, समीप, समान, पास आना
क़ुर्बान (221) = बलि, भेंट, बलिदान देना
क़ल्ब (21)= दिल, मन, आत्मा, बुद्धि
क़लम (12)= लेखनी, लिखावट
क़ौल (21) = वादा, शपथ, हामी, शब्द, कहावत, बात
क़सम (12) = शपथ
क़िस्म (21) = जाति, वर्ग, भाग, प्रकृति
क़िस्मत (22)= भाग्य, भाग, सर, श्रेणी
क़िस्सा (22= कहानी, कथा, प्रेमकथा, झगड़ा, विवाद
क़ुसूर (121)= दोष, अवगुण, खोट, भूल, पाप, असफलता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!