दोस्ती का सवाल

दोस्ती का सवाल

ननकू बरामदे में बैठा चीकू के साथ खेल रहा था कि तभी दरवाज़े से रमा चाची आती हुई बोलीं

“कैसा है ननकू..?..माँ कहाँ है..?”

“मैं अच्छा हूँ और माँ अंदर हैं..चाची बबलू नानी के घर से आ गया?”

“हाँ भई, मैं आ गयी हूँ तो बबलू कहाँ रुकेगा नानी के घर..आ रहा है तुझसे मिलने”- ये कहती हुई जैसे ही रमा चाची अंदर गयीं कि दरवाज़े से दौड़ता हुआ बबलू आ गया।

“ननकू..पता है नानी के घर में इतना मज़ा आया..”- चीकू को सहलाता हुआ बबलू ननकू के पास बैठ गया और अपनी बात आगे कहने लगा..”वहाँ पर न बहुत बड़ा झूला लगा था..हम न वहाँ पर…ये कौन है?”- बबलू के ऐसा बोलते ही ननकू और चीकू ने देखा तो घर से बाहर आता रसगुल्ला भी बबलू को देखकर रूक गया। बबलू उसे इतने ध्यान से देख रहा था कि रसगुल्ला सकुचा के चुपके-चुपके ननकू की तरफ़ बढ़ने लगा।

“ये..रसगुल्ला है..”कहते हुए ननकू ने रसगुल्ला को प्यार से अपनी गोद में ले लिया। चीकू भी रसगुल्ला को देखकर ख़ुश हो गया। बबलू ध्यान से रसगुल्ला को ही देख रहा था अचानक उसे भी रसगुल्ला पर ख़ूब प्यार आया वो उछालते हुए बोला

“रसगुल्ला..कितना प्यारा नाम है इसका और ये भी कितना प्यारा है, मैं खा जाऊँगा इसको तो”- बबलू लाड से बोला।

उसकी बात सुनकर रसगुल्ला ने अपनी छोटी-छोटी आँखें फैलाकर उसे हैरत से देखा और झट से ननकू की गोद में दुबक गया। ये देखकर ननकू और बबलू हँसने लगे। रसगुल्ला को भी मज़ा आ गया।

बबलू बोला “यार ननकू कल फ़्रेंडशिप डे है..तू मुझे ही फ़्रेंड्शिप बैंड बांधेगा न..मैं ही तो तेरा बेस्ट फ़्रेंड हूँ”

बबलू की बात का ननकू कोई जवाब देता कि उससे पहले चीकू और रसगुल्ला ननकू को देखने लगे कुछ इस तरह की जैसे कह रहे हों कि हम तुम्हारे बेस्ट फ़्रेंड हैं। ननकू को समझ ही नहीं आया कि वो क्या कहे। इतने में रमा चाची, माँ के साथ बाहर आयीं बबलू को देखकर बोलीं- “बबलू..घर चल नहा के आना और पहाड़े याद कर ले..स्कूल खुलने वाला है..कुछ पढ़ाई नहीं किया छुट्टियों में”

रमा चाची के साथ बबलू चला गया। माँ अंदर जाने लगीं तो देखा कि ननकू सोच में डूबा हुआ है-

“क्या हुआ ननकू…याद हो जाएगा पहाड़ा”

“नहीं माँ..बबलू बोला कि वो मेरा बेस्ट फ़्रेंड है..रसगुल्ला और चीकू बोल रहे हैं कि ये दोनों बेस्ट फ़्रेंड हैं..अब मैं किसको बेस्ट फ़्रेंड बोलूँ..ये सब मुझसे नाराज़ हो जाएँगे”- ननकू उदास होता हुआ बोला

“अच्छा..तो ये बात है..” माँ ननकू के पास बैठती हुई बोलीं “मुझे ये बता कि तुझे कौन अपना बेस्ट फ़्रेंड लगता है..बबलू, चीकू या रसगुल्ला?”

माँ का ये सवाल सुनकर ननकू सोच में पड़ गया..चीकू और रसगुल्ला ननकू को देखने लगे।ननकू का बेस्ट फ़्रेंड आख़िर कौन है?

(ये सवाल तो अब ननकू के दिमाग़ में भी चल रहा है कि उसका बेस्ट फ़्रेंड है कौन? ननकू जिसका नाम लेगा बाक़ी दो उससे नाराज़ हो जाएँगे..लेकिन ननकू किसका नाम लेगा ये तो पता ही नहीं..ये दोस्ती भी कैसे अलग सी होती है न हमें सब साथ में अच्छे लगते हैं लेकिन जब किसी एक को चुनना हो तो कितनी मुश्किल हो जाती है। आपको अपना बेस्ट फ़्रेंड पता है? आप भी ननकू के जैसे सोचने मत लगना..ननकू का बेस्ट फ़्रेंड कौन है इस सवाल का जवाब हमें मिलेगा कल।कल ही तो सब मनाएँगे “फ़्रेंड्शिप डे”)

One thought on “दोस्ती का सवाल

  1. ये तो ननकू के सामने ऐसी समस्या आ गई कि वो क्या जवाब देगा इसका इंतज़ार बेसब्री से हम भी कर रहे हैं ..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!