शा’इरी की बातें (20): ग़ज़ल का मतला क्या होता है?

मत’ला: ग़ज़ल या क़सीदे का वो शे’र जिसके दोनों मिसरों में रदीफ़ और क़ाफ़िये का इस्तेमाल होता है उसे मत’ला कहते हैं. अक्सर को ग़ज़ल

आगे पढ़ें..

error: Content is protected !!