शा’इरी की बातें(5): वज़्न करने का तरीक़ा (2)..

तीन अक्षर वाले शब्दों का वज़्न
जैसा कि हमने पहले की पोस्ट में बताया है कि किसी भी अक्षर या अक्षर के जोड़े का वज़्न 1 या 2 ही लिया जाएगा, ऐसे में जब शब्द तीन अक्षर का होता है तो उसको हमें दो हिस्सों में करना होता है. आइये समझने की कोशिश करते हैं-

12 वज़्न वाले शब्द
तीन अक्षर वाले ऐसे शब्द जिनके तीनों अक्षर पूरे होते हैं और बाद के दोनों अक्षर मिलकर एक जोड़ा बना लेते हैं और पहला अक्षर अकेला रहता है. जैसे मगर, ‘मगर’ का वज़्न 12 लिया जाता है. एक बार ‘मगर’ को बोल कर देखें..’मग’ और ‘र’ अलग करेंगे तो अजीब लगेगा लेकिन ‘म’ और ‘गर’ करेंगे तो नहीं लगेगा,यहाँ ‘गर’ एक अच्छा जोड़ा बनाता नज़र आ रहा है. यही वजह है कि इसका वज़्न 12 लिया जाता है. 12 वज़्न वाले कुछ शब्द: नगर, डगर, मगर, अगर, क़दर, जलन, सहर, जिगर,गगन, क़सम, सनम, करम, दमन, चलन, अगन, कमल, रजत, मुहर, बदन, कमर, क़मर,अगन, कसक, गजक इत्यादि.

जब तीन अक्षर वाले शब्दों का दूसरा अक्षर आधा हो और आख़िरी अक्षर में  ई, ऊ, आ, ए, ऐ, ओ, औ में से कोई एक मात्रा लगी हो और बीच का अक्षर आधा हो-
ऐसे में वज़्न 12 ही होगा क्यूँकि तीसरा अक्षर(जोकि मात्रा के साथ है) और दूसरा अक्षर (जोकि आधा है) साथ पढ़ा जाएगा. जैसे तुम्हीं (तु-1,म्हीं-2), तुम्हें, उन्हें, किन्हीं, किन्हें, जिन्हें,इत्यादि.

____
21 वज़्न वाले शब्द
*तीन अक्षर वाले ऐसे शब्द जिनके पहले दो अक्षर मिलकर जोड़ा बना लेते हैं और तीसरा अक्षर अकेला रह जाता है उनका वज़्न 21 लिया जाता है जैसे- मन’अ(मन-2 अ-1), दफ़’अ, नफ़’अ, जम’अ, इत्यादि (इन सभी लफ़्ज़ों को आम बोलचाल में मना, दफ़ा, नफ़ा, जमा पढ़ा जाने लगा जोकि सही नहीं है)

*अगर तीन अक्षर वाले शब्द का बीच वाला अक्षर आधा है तो शब्द का वज़्न 21 लिया जाएगा जैसे ‘जल्द’ (जल्-2, म-1).इसी आधार पर कुछ शब्द:
जिस्म, शम्स, जिल्द, जल्द, इल्म, क़िस्म, रस्म, शर्म, कर्म, धर्म, मर्म,वज़्न,अस्ल, रंग, अंग, दंग, जंग, उन्स,अस्र, इश्क़, मिस्र, रश्क, शब्द, मस्त, एक (उर्दू में जब ‘एक’ लिखते हैं तो ‘अलिफ़’ ‘ये’ और ‘काफ़’ का प्रयोग होता है, इसलिए ये भी तीन अक्षर वाला शब्द ही माना जाएगा लेकिन ‘ये’ की आवाज़ आधी ही है इसलिए इसे इस ग्रुप में रखेंगे), शह्र (शहर),क़ह्र (क़हर),ज़ह्र(ज़हर),बह्र (बहर), मह्र (महर), इत्यादि.

जब तीन अक्षर वाले शब्दों के पहले अक्षर में इ, ई, ऊ, उ, आ, ए, ऐ, ओ, औ में से कोई एक मात्रा लगी हो और बीच का अक्षर आधा हो-
ऐसे में वज़्न 21 ही होगा. वो इसलिए क्यूँकि पहले अक्षर में मात्रा के साथ ही आधा अक्षर भी बोलने में आ जाएगा और आख़िरी अक्षर अकेला रह जाएगा जैसे दोस्त (दोस्-2, त-1). इसी आधार पर कुछ शब्द- कोफ़्त, जिन्स, फ़िक्र, ज़िक्र, इत्यादि.

तीन अक्षर वाले ऐसे शब्द जिनका पहला अक्षर आधा हो
जब तीन अक्षर वाले शब्दों का पहला अक्षर आधा होता है तो वो और उसके बाद वाला अक्षर एक साथ पढ़ने में आ जाते हैं और आख़िरी अक्षर अकेला रह जाता है, तो इनका वज़्न भी 21 होगा. जैसे-स्वर (स्व-2, र-1). अगर बीच के अक्षर में कोई मात्रा तब भी वज़्न 21 ही होगा जैसे स्वाद,(स्वा-2, द-1), प्यार इत्यादि. इसकी वजह ये है कि ये उच्चारण के समय एक प्रकार का जोड़ा बना लेते हैं.

_____
22 वज़्न वाले शब्द
अगर तीन अक्षर का शब्द है और दूसरे तथा तीसरे अक्षर में कोई मात्रा नहीं है लेकिन पहले अक्षर में ‘ई, ऊ, आ, ए, ऐ, ओ, औ’ में से कोई एक मात्रा है तो इसका वज़्न 22 होगा जैसे आदत (आ-2, दत-2), ठोकर, सोनम, जानम, औरत, मूरत, ठोकर, झेलम, पूनम, राहुल, जीवन, इत्यादि.

_____
121 वज़्न वाले शब्द
तीन अक्षर के वो शब्द जिनके पहले तथा तीसरे अक्षर में ‘ई, ऊ, आ, ए, ऐ, ओ, औ’ में से कोई मात्रा नहीं होती लेकिन बीच के अक्षर में ‘ई, ऊ, आ, ए, ऐ, ओ, औ’ में से कोई एक मात्रा होती है तो ऐसे शब्दों का वज़्न 121 होगा जैसे मशाल (म-1, शा- 2, ल-1). इसी वज़्न पर कुछ शब्द हैं- किताब (कि-1,ता-2,ब-1),हिसाब, हिजाब,मजाल, अज़ाब, रक़ीब,रदीफ़,चराग़,अजीब, अदीब, बग़ैर, ख़मोश, मिसाल, मिज़ाज, ख़याल, ज़वाल, बवाल, नदीम, हसीन, जमील, क़दीम, जदीद, लिहाफ़, हिजाब,मुराद इत्यादि.

____
22 वज़्न वाले शब्द
तीन अक्षर के वो शब्द जिनके पहले तथा दूसरे अक्षर में ‘ई, ऊ, आ, ए, ऐ, ओ, औ’ में से कोई मात्रा नहीं होती लेकिन आख़िरी अक्षर में ‘ई, ऊ, आ, ए, ऐ, ओ, औ’ में से कोई एक मात्रा होती है तो ऐसे शब्दों का वज़्न 22/21 होगा. किसी शब्द के आख़िरी अक्षर में अगर मात्रा आती है तो उसे गिरा कर पढ़ा जा सकता है, गिरा कर पढ़ने पर उस हिस्से का वज़्न 1 माना जाता है (इसी वजह से वज़्न 21 भी हो सकता है). जैसे- झरना (झर-2, ना-2), फिसला (फिस-2, ला- 2), मिटना, मरना, करनी, जननी, जुगनू, चिमनी, दुनिया (इसका उच्चारण दुनया है), इत्यादि.

221 वज़्न वाले शब्द

तीन अक्षर के वो शब्द जिनके तीसरे अक्षर में ‘ई, ऊ, आ, ए, ऐ, ओ, औ’ में से कोई मात्रा नहीं होती लेकिन पहले और बीच के अक्षर में ‘ई, ऊ, आ, ए, ऐ, ओ, औ’ में से कोई एक मात्रा होती है तो ऐसे शब्दों का वज़्न 221 होगा जैसे बेदाद (बे-2, दा- 2, द-1). इसी वज़्न पर कुछ शब्द हैं- बेदाग़, नाशाद, नायाब,इत्यादि.

222 वज़्न वाले शब्द
तीन अक्षर के वो शब्द जिनके हर अक्षर में ‘ई, ऊ, आ, ए, ऐ, ओ, औ’ में से कोई मात्रा होती है उसका वज़्न 222 लिया जाता है. जैसे नाराज़ी (ना-2, सा-2, ज़ी-2).

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!